International Relations Editorials
International Relations Editorials

UNSC लकवाग्रस्त है और आज की वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करता है: UNSC अध्यक्ष

President of 77th Session of UNGA visits India संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र के अध्यक्ष साबा कोरोसी भारत के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। समाचार सारांश: UNGA के 77वें सत्र के अध्यक्ष भारत दौरे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के वर्तमान अध्यक्ष, सिसाबा कोरोसी, तीन दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंचे हैं।अपनी यात्रा से पहले, उन्होंने आज की वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित…

0 Comments
International Relations Editorials
International Relations Editorials

अमन का मौका: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की पेशकश

A chance for peace अगर पाकिस्तान रिश्तों को सामान्य बनाने के लिए आगे आता है, तो भारत को उससे बातचीत करनी चाहिए हमेशा से उबड़-खाबड़ रास्तों पर रहे भारत-पाकिस्तान संबंधों के लिए, बातचीत की कोई भी पेशकश, जैसा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पिछले सप्ताह की थी, समान रूप से उत्साह और निराशा की वजह बनती है। संयुक्त…

0 Comments
International Relations Editorials
International Relations Editorials

आगे बढ़कर अगुवाई: “ग्लोबल साउथ समिट” की आवाज और जी20 की अध्यक्षता

Leading from front जी20 शिखर सम्मेलन के अध्यक्ष के रूप में भारत को दक्षिणी दुनिया के देशों (ग्लोबल साउथ) की आवाज बुलंद करनी चाहिए भारत सरकार द्वारा नेतृत्व-स्तर के अपने पहले बड़े जी20 के कार्यक्रम के रूप में “वॉयस ऑफ द ग्लोबल साउथ समिट” नाम से जाना जानेवाले विकासशील देशों के शिखर सम्मेलन का आयोजन, एक बेहद ही महत्वपूर्ण संकेत…

0 Comments
International Relations Editorials
International Relations Editorials

इज़राइल – फ़िलिस्तीन संघर्ष

Israel - Palestine conflict इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष उन्नीसवीं सदी के अंत से शुरू होता है ख़बरों में: हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) ने एक प्रस्ताव पारित किया जिसने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) से फिलिस्तीनी भूमि पर इजरायल के लंबे समय तक कब्जे के कानूनी परिणामों पर अपनी राय प्रस्तुत करने के लिए कहा।भारत उन 53 देशों में से एक था,…

0 Comments
International Relations Editorials
International Relations Editorials

बद से बदतर: बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी पर

Bad to worse बेंजामिन नेतन्याहू एक दमनकारी लोकतंत्र में इजरायल के पतन को तेज करेंगे छठी बार इज़राइल के प्रधान मंत्री के रूप में बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी इसकी घरेलू राजनीति और फिलिस्तीनियों के साथ इसके संबंधों में एक निर्णायक बदलाव का प्रतीक है। यदि अतीत में उनकी दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी ने मध्यमार्गी और अपेक्षाकृत उदारवादी पार्टियों के साथ विविध…

0 Comments