भारत के 15वें राष्ट्रपति के चुनाव  ने भारतीय लोकतंत्र को और मजबूत किया है 

सुश्री द्रौपदी मुर्मू ने भारत के 15वें राष्ट्रपति के तौर पर 25 जुलाई को ली शपथ..

महामहिम राष्ट्रपति मुर्मू को दी गयी 21 तोपों की सलामी..

भारत की दूसरी महिला राष्ट्रपति हैं महामहिम द्रौपदी मुर्मू

बेहद गरीब व् पिछड़ी 'संथाल' जनजाति से आती हैं महामहिम मुर्मू

भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए यह विपक्ष पर राजनीतिक जीत का क्षण है..

सुश्री मुर्मू का चुनाव जनजातीय सशक्तिकरण की यात्रा में एक मील का पत्थर है । यह भारत के लिए गर्व का क्षण है ।

पढ़ें..

पूरा अंग्रेजी लेख  हिंदी में..