International Relations Editorials in Hindi

International Relations Editorials
International Relations play a pivotal role in the overall healthier development of a nation that ensures the fulfillment of basic as well as growth-oriented necessities among the nations with mutual cooperation.
International Relations is the study of the interaction of nation-states and non-governmental organizations in fields such as politics, economics, and security. Professionals work in academics, government, and non-profits to understand and develop cooperative exchanges between nations that benefit commerce, security, quality of life, and the environment.
This section features International Relations Editorials in the Hindi language exclusively from the Indian front because these are only relevant to various Competitive Exams like UPSC-IAS (Prelims and Mains), SSC, and other State Civil Services Examinations.
The featured articles or editorials on International Relations Editorials in Hindi page are taken from various prestigious resources like The Hindu, Indian Express, Times of India, etc. These are translated with a high level of accuracy and are featured in International Relations Editorials in Hindi section of the Editorials in Hindi website.
Apart from the aspiring students, Economists, News Readers, and Content Writers should also visit this page regularly to stay updated with current trends in the Indian Economy.
International Relations Editorials

Latest Editorials on International Relations in Hindi

International Relations Editorials
UNSC लकवाग्रस्त है और आज की वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करता है: UNSC अध्यक्ष
President of 77th Session of UNGA visits India संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र के अध्यक्ष साबा कोरोसी भारत के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। समाचार सारांश: UNGA के 77वें सत्र के अध्यक्ष भारत दौरे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के वर्तमान अध्यक्ष, सिसाबा कोरोसी, तीन दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंचे हैं। अपनी यात्रा से पहले, उन्होंने...
International Relations Editorials
अमन का मौका: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की पेशकश
A chance for peace अगर पाकिस्तान रिश्तों को सामान्य बनाने के लिए आगे आता है, तो भारत को उससे बातचीत करनी चाहिए हमेशा से उबड़-खाबड़ रास्तों पर रहे भारत-पाकिस्तान संबंधों के लिए, बातचीत की कोई भी पेशकश, जैसा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पिछले सप्ताह की थी, समान रूप से उत्साह और निराशा की वजह बनती है। संयुक्त...
International Relations Editorials
आगे बढ़कर अगुवाई: “ग्लोबल साउथ समिट” की आवाज और जी20 की अध्यक्षता
Leading from front जी20 शिखर सम्मेलन के अध्यक्ष के रूप में भारत को दक्षिणी दुनिया के देशों (ग्लोबल साउथ) की आवाज बुलंद करनी चाहिए भारत सरकार द्वारा नेतृत्व-स्तर के अपने पहले बड़े जी20 के कार्यक्रम के रूप में “वॉयस ऑफ द ग्लोबल साउथ समिट” नाम से जाना जानेवाले विकासशील देशों के शिखर सम्मेलन का आयोजन, एक बेहद ही महत्वपूर्ण...
International Relations Editorials
इज़राइल - फ़िलिस्तीन संघर्ष
Israel – Palestine conflict इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष उन्नीसवीं सदी के अंत से शुरू होता है ख़बरों में: हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) ने एक प्रस्ताव पारित किया जिसने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) से फिलिस्तीनी भूमि पर इजरायल के लंबे समय तक कब्जे के कानूनी परिणामों पर अपनी राय प्रस्तुत करने के लिए कहा।...
International Relations Editorials
बद से बदतर: बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी पर
Bad to worse बेंजामिन नेतन्याहू एक दमनकारी लोकतंत्र में इजरायल के पतन को तेज करेंगे छठी बार इज़राइल के प्रधान मंत्री के रूप में बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी इसकी घरेलू राजनीति और फिलिस्तीनियों के साथ इसके संबंधों में एक निर्णायक बदलाव का प्रतीक है। यदि अतीत में उनकी दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी ने मध्यमार्गी और अपेक्षाकृत उदारवादी...
International Relations Editorials
हथियारों से आगे: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की की वॉशिंगटन यात्रा
Beyond Weapons अमेरिका को यूक्रेन पर दबाव बनाना चाहिए कि वह रूस के साथ इस संघर्ष के समाधान का रास्ता खोजे यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की की वाशिंगटन यात्रा, 24 फरवरी को शुरू हुए रूसी हमले के बाद उनकी पहली विदेश यात्रा है। वहीं, बाइडेन प्रशासन द्वारा पैट्रियट मिसाइल रक्षा प्रणाली और निर्देशित मिसाइलों समेत 1.8...
International Relations Editorials
तालिबान से रिश्ता: भारत द्वारा दमनकारी शासन से संपर्क खत्म करने का मुद्दा
Ties with Taliban दमनकारी शासन के मौजूद रहने तक भारत को अफगानिस्तान के साथ संपर्क को सीमित करना चाहिए अपने एक ताजा अपमानजनक निर्णय में, तालिबान शासन ने विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाली छात्राओं पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है। “कैबिनेट” बैठक का यह निर्णय ऐसे उन फैसलों की श्रृंखला में से एक है जिसने 2001, जब पिछली बार तालिबान...
International Relations Editorials
इंडो-पैसिफिक प्रतियोगिता में नया सामान्य
The new normal in the Indo­-Pacific contestation हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण परिवर्तन और चुनौतियां होंगी जैसे ही 2022 समाप्त हो रहा है, दुनिया एक ‘नए सामान्य’ को गले लगा रही है, जहां इंडो-पैसिफिक में नई फॉल्ट लाइनों को फिर से जोड़ा जा रहा है। हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्र इस...
1 2 3 11
UNSC लकवाग्रस्त है और आज की वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करता है: UNSC अध्यक्ष
President of 77th Session of UNGA visits India संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र के अध्यक्ष साबा कोरोसी भारत के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। समाचार सारांश: UNGA के 77वें सत्र के अध्यक्ष भारत दौरे पर संयुक्त राष्ट्र महासभा के वर्तमान अध्यक्ष, सिसाबा कोरोसी, तीन दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंचे हैं। अपनी यात्रा से पहले, उन्होंने...
अमन का मौका: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की पेशकश
A chance for peace अगर पाकिस्तान रिश्तों को सामान्य बनाने के लिए आगे आता है, तो भारत को उससे बातचीत करनी चाहिए हमेशा से उबड़-खाबड़ रास्तों पर रहे भारत-पाकिस्तान संबंधों के लिए, बातचीत की कोई भी पेशकश, जैसा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने पिछले सप्ताह की थी, समान रूप से उत्साह और निराशा की वजह बनती है। संयुक्त...
आगे बढ़कर अगुवाई: “ग्लोबल साउथ समिट” की आवाज और जी20 की अध्यक्षता
Leading from front जी20 शिखर सम्मेलन के अध्यक्ष के रूप में भारत को दक्षिणी दुनिया के देशों (ग्लोबल साउथ) की आवाज बुलंद करनी चाहिए भारत सरकार द्वारा नेतृत्व-स्तर के अपने पहले बड़े जी20 के कार्यक्रम के रूप में “वॉयस ऑफ द ग्लोबल साउथ समिट” नाम से जाना जानेवाले विकासशील देशों के शिखर सम्मेलन का आयोजन, एक बेहद ही महत्वपूर्ण...
इज़राइल - फ़िलिस्तीन संघर्ष
Israel – Palestine conflict इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष उन्नीसवीं सदी के अंत से शुरू होता है ख़बरों में: हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) ने एक प्रस्ताव पारित किया जिसने अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) से फिलिस्तीनी भूमि पर इजरायल के लंबे समय तक कब्जे के कानूनी परिणामों पर अपनी राय प्रस्तुत करने के लिए कहा।...
बद से बदतर: बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी पर
Bad to worse बेंजामिन नेतन्याहू एक दमनकारी लोकतंत्र में इजरायल के पतन को तेज करेंगे छठी बार इज़राइल के प्रधान मंत्री के रूप में बेंजामिन नेतन्याहू की वापसी इसकी घरेलू राजनीति और फिलिस्तीनियों के साथ इसके संबंधों में एक निर्णायक बदलाव का प्रतीक है। यदि अतीत में उनकी दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी ने मध्यमार्गी और अपेक्षाकृत उदारवादी...
हथियारों से आगे: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की की वॉशिंगटन यात्रा
Beyond Weapons अमेरिका को यूक्रेन पर दबाव बनाना चाहिए कि वह रूस के साथ इस संघर्ष के समाधान का रास्ता खोजे यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की की वाशिंगटन यात्रा, 24 फरवरी को शुरू हुए रूसी हमले के बाद उनकी पहली विदेश यात्रा है। वहीं, बाइडेन प्रशासन द्वारा पैट्रियट मिसाइल रक्षा प्रणाली और निर्देशित मिसाइलों समेत 1.8...
तालिबान से रिश्ता: भारत द्वारा दमनकारी शासन से संपर्क खत्म करने का मुद्दा
Ties with Taliban दमनकारी शासन के मौजूद रहने तक भारत को अफगानिस्तान के साथ संपर्क को सीमित करना चाहिए अपने एक ताजा अपमानजनक निर्णय में, तालिबान शासन ने विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाली छात्राओं पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है। “कैबिनेट” बैठक का यह निर्णय ऐसे उन फैसलों की श्रृंखला में से एक है जिसने 2001, जब पिछली बार तालिबान...
इंडो-पैसिफिक प्रतियोगिता में नया सामान्य
The new normal in the Indo­-Pacific contestation हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण परिवर्तन और चुनौतियां होंगी जैसे ही 2022 समाप्त हो रहा है, दुनिया एक ‘नए सामान्य’ को गले लगा रही है, जहां इंडो-पैसिफिक में नई फॉल्ट लाइनों को फिर से जोड़ा जा रहा है। हिंद महासागर और दक्षिण एशियाई क्षेत्र इस...
1 2 3 11